पुनर्वसु नक्षत्र


अर्थ: पुनः शुभ
देव: आदित्य

पुनर्वसु नक्षत्र में आपका जन्म हुआ है तो आप होनहार व उत्साहयुक्त होने के साथ एक ईमानदार व्यक्ति हैं। आप आध्यात्मिक गतिविधियों में रूचि लेते हैं तथा भौतिकवाद से कोसों दुर रहते हैं। इस नक्षत्र में जन्मे व्यक्ति धार्मिक व्यवसाय में ही जाना पसंद करते हैं। आप जो कुछ भी भौतिक सुख-सुविधाएं या वस्तुएं प्राप्त करते हैं, उन्हें आप दूसरों के साथ मिल-बांट कर ग्रहण करते हैं। अपनी आध्यात्मिक तृप्ति के लिए आप अपने अंतर्मन को ही टटोलते हैं। अधिकांशतः आप धार्मिक व आध्यात्मिक करियर को ही चुनते हैं।

यदि किसी कारण आप ऐसे करियर को नहीं भी चुन पाते हैं तो भी आप भीतर से धार्मिक व आध्यात्मिक प्रवृति के ही रहते हैं। आपके लिए अन्य अनुकूल करियर विकल्पों में लेखन, अभिनय व पत्राचार के क्षेत्र मुख्य हैं। इस नक्षत्र में जन्मे लोगों का वैवाहिक जीवन बड़ा सुखमय होता है। आपके घर जन्मे बच्चे खुद को सुरक्षित व स्नेह से परिपूर्ण पाते हैं। आप का परिवार ईश्वर पर आपके गूढ़ विश्वास व उच्च आदर्शों के कारण खुद को गहरी सुरक्षा की भावना से पूर्ण पाता है। आपको अपनी सेहत का खास ख्याल रखना चाहिए तथा स्वस्थ आहार ग्रहण करना चाहिए, अन्यथा आप टी बी, अल्पाहार तथा निमोनिया जैसी बीमारियों से ग्रस्त हो सकते हैं।

27 नक्षत्रों के नाम इस प्रकार हैं:

आज का पंचांग

आज का पंचांग

आज का पंचांग यानि दैनिक पंचांग अंग्रेंजी में Daily Panchang भी कह सकते हैं। दिन की शुरुआत अच्छी हो, जो ...

और पढ़ें
आज की तिथि

आज की तिथि

तिथि पंचांग का सबसे मुख्य अंग है यह हिंदू चंद्रमास का एक दिन होता है। तिथि के आधार पर ही सभी...

और पढ़ें
आज का दिन

आज का दिन

सप्ताह के प्रत्येक दिवस को वार के रूप में जाना जाता है। वार पंचांग के गठन में अगली कड़ी है। एक सूर्योदय से ...

और पढ़ें
आज का शुभ मुहूर्त

आज का शुभ मुहूर्त

पंच मुहूर्त में शुभ मुहूर्त, या शुभ समय, वह समय अवधि जिसमें ग्रह और नक्षत्र मूल निवासी के लिए अच्छे या...

और पढ़ें
आज का नक्षत्र

आज का नक्षत्र

पंचांग में नक्षत्र का विशेष स्थान है। वैदिक ज्योतिष में किसी भी शुभ कार्य को करने से पूर्व नक्षत्रों को देखा जाता है।...

और पढ़ें
आज का चौघड़िया

आज का चौघड़िया

चौघड़िया वैदिक पंचांग का एक रूप है। यदि कभी किसी कार्य के लिए शुभ मुहूर्त नहीं निकल पा रहा हो या कार्य को ...

और पढ़ें
आज का राहु काल

आज का राहु काल

राहुकाल भारतीय वैदिक पंचांग में एक विशिष्ट अवधि है जो दैनिक आधार पर होती है। यह समय किसी भी विशेष...

और पढ़ें
आज का शुभ होरा

आज का शुभ होरा

वैदिक ज्योतिष दिन के प्रत्येक घंटे को होरा के रूप में परिभाषित करता है। पाश्चात्य घड़ी की तरह ही, हिंदू वैदिक ...

और पढ़ें
आज का शुभ योग

आज का शुभ योग

पंचांग की रचना में योग का महात्वपूर्ण स्थान है। पंचांग योग ज्योतिषाचार्यों को सही तिथि व समय की गणना करने में...

और पढ़ें
आज के करण

आज के करण

वैदिक ज्योतिष के अनुसार व्रत, पर्व को निर्धारित करने में पंचांग और मुहूर्त का महत्वपूर्ण स्थान है। इनके बिना, हिंदू ...

और पढ़ें
पर्व और त्यौहार

पर्व और त्यौहार

त्यौहार हमारे जीवन का अहम हिस्सा हैं, त्यौहारों में हमारी संस्कृति की महकती है। त्यौहार जीवन का उल्लास हैं त्यौहार...

और पढ़ें
राशि

राशि

वैदिक ज्योतिष में राशि का विशेष स्थान है ही साथ ही हमारे जीवन में भी राशि महत्वपूर्ण स्थान रखती है। ज्योतिष...

और पढ़ें


Chat Now for Support