पर्पल कैप


आईपीएल (IPL) देश से लेकर दुनिया तक खूब लोकप्रिय हो चुका है। 11 सीज़न से लगातार खिलाड़ियों को अपना हुनर दिखाने के साथ-साथ उसमें धार पैदा करने का मौका मिल रहा है। काफी खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्हें आईपीएल में श्रेष्ठ प्रदर्शन के कारण भारतीय टीम में खेलने का अवसर मिला। आईपीएल के हर सीज़न को लेकर जैसे टीमों के बीच की टक्कर को लेकर कयास लगाये जाते हैं कि फलां टीम फलां टीम पर हावि रहेगी। या इस बार तो पक्का यही आईपीएल जीतेगी। उसी तरह खिलाड़ियों की आपसी बैटल भी मैदान में देखने को मिलती है। बल्लेबाज हों या गेंदबाज एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ रहती है। बल्लेबाजों की बात हमने ऑरेंज कैप के संभावित खिलाड़ियों के बारे में बताते हुए की अब हम बात करेंगे गेंदबाजों की।
जिस तरह बल्लेबाजी में ऑरेंज कैप के लिये बल्लेबाज ज्यादा से ज्यादा रन बनाते हैं उसी तरह गेंदबाज भी ज्यादा से ज्यादा विकेट चटकाने की फिराक में रहते हैं ताकि टीम के जीत के साथ-साथ उनके सिर पर पर्पल कैप बनी रहे। आइये जानते हैं पर्पल कैप के बारे में।
पर्पल कैप क्या है?
जिस तरह बल्लेबाजी में किसी एक सीज़न में जिस खिलाड़ी का स्कोर सबसे हाई रहता है उसके सिर पर ऑरेंज कैप होती है उसी प्रकार गेंदबाजी में बेहतर प्रदर्शन करने के लिये खिलाड़ी को सम्मान स्वरूप यह पर्पल कैप पहनाई जाती है।
अब तक के पर्पल कैप धारक
2008 से लेकर 2018 तक इंडियन प्रीमियर लीग के 11 सीज़न संपन्न हुए हैं। पर्पल कैप पहनने का सौभाग्य सबसे पहले एक पाकिस्तानी गेंदबाज सोहेल तनवीर को प्राप्त हुआ था। हालांकि इस आईपीएल के बाद 26 नवंबर की घटना हुई जिसके फलस्वरूप पाकिस्तानी खिलाड़ियों के आईपीएल में खेलने पर रोक लग गई। सोहेल तनवीर ने इस सीज़न में 22 विकेट लिये थे। ड्वेन ब्रावो आईपीएल के किसी एक सीज़न में सर्वाधिक (32) विकेट लेने वाले खिलाड़ी हैं इतना ही नहीं सबसे पहले दो बार पर्पल कैप पहनने वाले खिलाड़ी भी यही बने इन्हें 2013 व 15 में यह कैप मिली। लगातार दो बार पर्पल कैप अपने पास रखने वाले स्विंग के सरजात भुवनेश्वर कुमार हैं। इन्होंने 2016 व 17 में यह कैप अपने पास रखी।
आईपीएल के सभी सीज़न में पर्पल कैप धारकों की सूची इस प्रकार है:-

आईपीएल 2008 – सोहेल तनवरी, 22 विकेट
आईपीएल 2009 – आर पी सिंह, 23 विकेट
आईपीएल 2010 – प्रज्ञान ओझा, 21 विकेट
आईपीएल 2011 – लसिथ मलिंग, 28 विकेट
आईपीएल 2012 – मोर्न मोर्कल, 25 विकेट
आईपीएल 2013 – ड्वेन ब्रावो, 32 विकेट
आईपीएल 2014 – मोहित शर्मा, 23 विकेट
आईपीएल 2015 – ड्वेन ब्रावो, 26 विकेट
आईपीएल 2016 – भुवनेश्वर कुमार, 23 विकेट
आईपीएल 2017 – भुवनेश्वर कुमार, 26 विकेट
आईपीएल 2018 - एंड्रयू टाय, 24 विकेट
आईपीएल के 12वें सीज़न में एंड्रयू टाय पर्पल कैप पहनकर खेलते हुए नज़र आयेंगें। देखने वाली बात यह होगी कि क्या वे इसे अपने पास बरकरार रख पायेंगें या फिर कोई अन्य गेंदबाज यह कैप उनसे लेने में कामयाब होगा।

2019 इंडियन प्रीमियर लीग में किसे मिलेगी पर्पल कैप?
आईपीएल के 12वें सीज़न में पर्पल कैप किसको मिलेगी? कौनसा गेंदबाज सबसे ज्यादा विकेट चटकाएगा। एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर्स की इस बारे में क्या राय है? इसके लिये हमने प्रत्येक टीम से आईपीएल के 11वें सीज़न में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले गेंदबाज को लेकर उनकी नाम व सूर्य राशि के आधार पर एक सामान्य ज्योतिषीय आकलन किया है। वैसे तो पूरी तरह से सटीकता के लिये वैदिक ज्योतिष में लग्न कुंडली को आधार माना जाता है लेकिन कुछ खिलाड़ियों के समय व स्थान की सही जानकारी के अभाव में हम यहां पर उनकी सूर्य राशि व नाम राशि के अनुसार विश्लेषण कर रहे हैं।

एंड्रयू टाय (KXIP)

एंड्रयू टाय पिछले सीज़न में सबसे ज्यादा विकेट चटकाने वाले गेंदबाज हैं। इनसे पहले 2016 व 17 में यह कैप भुवनेश्वर कुमार के पास थी। ऐसे में किंग्स इलेवन पंजाब के लिये खेलने वाले इस गेंदबाज के लिये पर्पल कैप को अपने पास बनाए रखना आसान बिल्कुल नहीं हैं। लेकिन अगर सितारे इन पर मेहरबान हैं तो कोई इनसे यह कैप छीन भी नहीं सकता।
टीम – किंग्स इलेवन पंजाब
नाम – एंड्रयू टाय
जन्मतिथि – 12 दिसंबर 1986
सूर्य राशि - धनु
नाम राशि – मेष


शार्दुल ठाकुर (CSK)

चेन्नई सुपर किंग्स के लिये गत सीज़न में इस गेंदबाज ने 16 विकेट चटकाए थे। इस बार दो बार पर्पल कैप पहनने वाले अपनी ही टीम के ड्वेन ब्रावो व एक बार पर्पल कैप पहनने वाले मोहित शर्मा भी चेन्नई से ही खेल रहे हैं। लुंगीसनी ट्रयू मैन नगिदी (Lungi Ngidi) भी चेन्नई के लिये गेंदबाजी करेंगें तो शार्दुल को पहले अपनी ही टीम के इन गेंदबाजों से बेहतर प्रदर्शन करना पड़ेगा, तभी जाकर वे पर्पल कैप की दौड़ में बने रह सकते हैं। बाकि किसकी किस्मत कब व कैसे पलट जाये कुछ कहा नहीं जा सकता।
टीम – चेन्नई सुपर किंग्स
नाम – शार्दुल ठाकुर
जन्मतिथि – 16 अक्तूबर 1991
सूर्य राशि – तुला
नाम राशि - कुंभ


राशिद खान (SRH)

अफगानिस्तान की ओर से खेलने वाले इस युवा गेंदबाज ने बहुत कम समय में क्रिकेट जगत में अपना नाम कमाया है। अपनी बेहतरीन गेंदबाजी से सबको चौंकाने वाले राशिद खान आईपीएल के 11वें सीज़न में 21 विकेट लेकर पर्पल कैप से सिर्फ कुछ कदम की दूरी से चूक गये। इंडियन प्रीमियर लीग 2019 में जरुर राशिद इस गैप को भरना चाहेंगे। लेकिन इंसान के चाहने न चाहने से सबकुछ होता तो क्या बात थी होता तो वही है जो किस्मत कहती है।
टीम – सनराइजर्स हैदराबाद
नाम – राशिद खान
जन्मतिथि – 20 सितंबर 1998
सूर्य राशि - कन्या
नाम राशि – तुला


उमेश यादव (RCB)

उमेश यादव के लिये भी आईपीएल का पिछला सीज़न शानदार रहा था। इसमें 20 विकेट लेकर वे पर्पल कैप की दौड़ में एंड्रयू टाय (24), राशिद खान (21) और सिद्धार्थ कॉल (21) के बाद चौथे स्थान पर रहे थे। आईपीएल 2019 में आरसीबी को तो अपने इस गेंदबाज से उम्मीदें होंगी ही साथ ही उनकी भी कौशिश रहेगी कि अपने प्रदर्शन को बेहतर बनाते हुए वे गेंदबाजी में शिखर पर पंहुचे। हालांकि उमेश यादव के लिये यह राह आसान तो नहीं है लेकिन नामुमकिन बिल्कुल भी नहीं।
टीम – रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर
नाम – उमेश यादव
जन्मतिथि – 25 अक्तूबर 1987
सूर्य राशि – वृश्चिक
नाम राशि - वृषभ



ट्रेंट बोल्ट (DC)

दिल्ली कैपिटल्स को गेंदबाजी में बोल्ट से काफी उम्मीदें हैं। 11वें सीज़न में वे 18 विकेट लेकर पांचवे स्थान पर रहे थे। निश्चित तौर पर बोल्ट में पर्पल कैप पाने का पोंटेंशियल है। अनुभव तो उनके पास है ही साथ ही जब वे लय में होते हैं तो अच्छे-अच्छे बल्लेबाज उनकी गेंद को समझ नहीं पाते ऐसे में पर्पल कैप को हथियाना उनके लिये मुश्किल नहीं है। लेकिन ऐसा भी नहीं है कि कोई उन्हें टक्कर देने वाला नहीं है। ऐसे में अपने प्रदर्शन के साथ-साथ किस्मत भी उनका साथ दे तो हर राह मंजिल तक पंहुचा देती है।
टीम – दिल्ली कैपिटल्स
नाम – ट्रेंट बोल्ट
जन्मतिथि – 22 जुलाई 1989
सूर्य राशि – कर्क
नाम राशि - सिंह


हार्दिक पांड्या (MI)

मुबंई इंडियंस के लिये हार्दिक पांड्या कई बार तो संकट मोचक की भूमिका निभाते हैं। अगर बल्ले से कोई विस्फोट नहीं कर पाते तो गेंदबाजी से वे घातक साबित हो जाते हैं। पिछले सीज़न में उन्होंने अपनी ही टीम के मुख्य गेंदबाज जसप्रीत बुमराह (17) से एक विकेट ज्यादा ली और पर्पल कैप की दौड़ में ट्रेंट बोल्ट (18) के बाद उनका नाम आता है। हालांकि पंड्या ने बोल्ट के मुकाबले एक मैच कम खेला नहीं तो वे लिस्ट में उनसे ऊपर भी हो सकते थे। अगर सब कुछ अच्छा रहा तो पंड्या से भी पर्पल कैप की उम्मीद की जा सकती है।
टीम – मुंबई इंडियंस
नाम – हार्दिक पांड्या
जन्मतिथि – 11 अक्तूबर 1993
सूर्य राशि – कन्या
नाम राशि - कर्क


सुनील नारिने (सुनील नारायण) (KKR)

कोलकाता नाइट राइडर की ओर से खेलने वाले भारतीय मूल के वेस्टइंडीज़ टीम के क्रिकेट खिलाड़ी सुनील नारिने बहुत ही विस्फोटक बल्लेबाज तो हैं ही साथ ही उनकी गेंदबाजी भी कमाल की है। आईपीएल 2018 में इन्होंने 17 विकेट तो चटकाई ही हैं साथ ही युसुफ पठान के साथ दूसरा सबसे तेज अर्धशतक लगाने वाले खिलाड़ी भी हैं। ऐसे में टीम की उम्मीदें रहेंगी कि बल्ले के साथ-साथ गेंदबाजी में भी सुनील बेहतर परफोर्म करें।
टीम – कोलकाता नाइट राइडर्स
नाम – सुनील नारिने
जन्मतिथि – 26 मई 1988
सूर्य राशि – मिथुन
नाम राशि - कुंभ


जोफ्रा आर्चर (RR)

जोफ्रा आर्चर गेंदबाजी सेस तो कमाल करते ही हैं साथ ही बल्ले से भी राजस्थान रॉयल्स की टीम में आवश्यकता पड़ने पर अपना योगदान जरुर देते हैं। पिछले सीज़न में उन्होंने 15 विकेट चटकाए थे। देखना होगा क्या इस बार वह पर्पल कैप में प्रमुख गेंदबाजों को कोई चुनौति दे पाते हैं या नहीं। हालांकि उनकी अपनी ही टीम में जयदेव उनादकट उनसे बाजी मार सकते हैं। देखना होगा कि किस्मत किसका साथ देती है।
टीम – राजस्थान रॉयल
नाम – जोफ्रा आर्चर
जन्मतिथि – 1 अप्रैल 1995
सूर्य राशि – मेष
नाम राशि - मकर

यह सूची इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें सीज़न में गेंदबाजों के प्रदर्शन के आधार पर बनी है। इस बार के आईपीएल में इन गेंदबाजों को जयदेव उनादकट, भुवनेश्वर कुमार, सिद्धार्थ कॉल, ड्वेन ब्रावो, अजंता मेंडिस, मोहित शर्मा, जसप्रीत बुमराह जैसे खिलाड़ियों से निश्चित तौर पर चुनौति मिल सकती है। उपरोक्त गेंदबाजों के लिये आईपीएल के 12वें सीज़न में पर्पल कैप की संभावनाएं कितना प्रबल हैं इसके बारे एस्ट्रोयोगी एस्ट्रोलॉजर की राय कुछ इस प्रकार है।
सभी संभावित खिलाड़ियों की सूर्य व नाम राशि के अनुसार ज्योतिषीय नज़रिये से आकलन करने पर हम कह सकते हैं कि एंड्रयू टाय का जलवा बरकरार रह सकता है लेकिन जोफ्रा आर्चर और शार्दुल ठाकुर भी इन्हें चुनौति दे सकते हैं। राशिद खान को भी किस्मत का साथ मिल रहा है लेकिन इनके लिये इनकी ही टीम से कोई अन्य खिलाड़ी चुनौति बन सकता है। ट्रेंट बोल्ट, उमेश यादव, हार्दिक पांड्या और सुनील नारिने के सितारे औसत ही हैं इसलिये इन्हें इसके लिये काफी मेहनत करनी पड़ेगी।



Chat Now for Support