क्रिसमस

क्रिसमस 2019


क्रिसमस दुनिया के अधिकतर देशों में मनाया जाने वाला त्यौहार। मानवता का संदेश देने वाले, प्रार्थना और क्षमा में विश्वास करने वाले एक संत, एक फरिश्ते, ईश्वर के एक दूत, ईश्वर के इकलौते पुत्र की याद में उनके जन्मोत्सव के रुप में मनाया जाने वाला त्यौहार। क्रिसमस खुशियों की सौगात देते सांता का त्यौहार। क्रिसमस ईसाई धर्म में विश्वास रखने वालों का एक महत्वपूर्ण त्यौहार और पूरी दुनिया में मानवता को प्रेम करने वालों, मानवता को चाहने वालों और मानवता की अलख जगाने वालों के लिये एक बड़ा दिन। भारत के साथ-साथ दुनिया के अधिकतर देशों में हर साल 25 दिसंबर को क्रिसमस का यह त्यौहार बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है।

मान्यता है कि इस दिन ईश्वर के इकलौते पुत्र ईसा मसीह यानि यीशू यानि जीसस क्राईस्ट ने जोसेफ और मैरी के यहां जगत के कल्याण के लिये संतान के रुप में जन्म लिया। उनके जन्मोत्सव के रुप में पूरी दुनिया में ईसा के अनुयायी इसे क्रिसमस के रूप में मनाते हैं। हालांकि इस बारे में प्रमाणिक तथ्य नहीं मिलते कि ईसा का जन्म 25 दिसंबर को ही हुआ लेकिन आज पूरी दुनिया में 25 दिसंबर को क्रिसमस और भारत में क्रिसमस के साथ-साथ बड़े दिन के रुप में इसे मनाया जाता है। ईसाइयों में तो इस त्यौहार का महत्व और खुशी उतनी ही होती है जितनी दीवाली के अवसर पर हिंदूओं में और ईद के अवसर पर मुस्लिमों में।

पर्व को और खास बनाने के लिये गाइडेंस लें इंडिया के बेस्ट एस्ट्रोलॉजर्स से।

क्रिसमस पर्व तिथि व मुहूर्त 2019

एस्ट्रो लेख

Chat Now for Support -->